Questions? Feedback? powered by Olark live chat software

Steel News

Steel News

Goa expects mining ban lifted soon: Sesa Sterlite General

प्रेट्र :नई दिल्ली...

अनिल अग्रवाल के वेदांता समूह की खनन सेक्टर की दिग्गज कंपनी सेसा स्टरलाइट ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट १८ माह से गोवा में लगे खनन प्रतिबंध को जल्द ही खत्म कर सकता है। प्रतिबंध खत्म होने के बाद सितंबर से यहां खनन प्रक्रिया शुरू हो सकती है जो मानसून तक जारी रहेगी।

सेसा स्टरलाइट के आयरन ओर बिजनेस के वाइस प्रेसीडेंट (कॉरपोरेट अफेयर्स) ए.एन. जोशी ने कहा कि हमारा मानना है कि गोवा में खनन पर से प्रतिबंध हटाने पर सुप्रीम कोर्ट का आदेश कभी भी आ सकता है। कोर्ट ने निर्धारित उत्पादन के मामले पर अपना फैसला पहले ही सुरक्षित रखा हुआ है। गोवा में खनन की बहाली सितंबर से होने की उम्मीद है और जून-जुलाई के दौरान राज्य में भारी बारिश शुरू हो जाती है। शुक्रवार को बांबे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर सेसा स्टरलाइट के शेयर का भाव 0.18 फीसदी की गिरावट के साथ 189.95 रुपये पर बंद हुआ। बाजार बंद होते समय कंपनी का पूंजीकरण 56,313 करोड़ रुपये पर दर्ज किया गया।

२७ मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने गोवा में वार्षिक उत्पादन की सीमा निर्धारित करने वाले अपने फैसले को सुरक्षित रख लिया था और कहा था कि इस पर निर्णय कुछ दिनों में लिया जाएगा। कोर्ट द्वारा नियुक्त एक पैनल ने अपनी सिफारिश में कहा है कि गोवा में सालाना लौह अयस्क का खनन दो करोड़ टन तक निर्धारित किया जाना चाहिए। गोवा सरकार इस सीमा के ४.५ करोड़ टन करने के पक्ष में है। सेसा स्टरलाइट, वेदांता की प्रमुख सब्सिडियरी है, जो कि भारत में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी लौह अयस्क उत्पादक कंपनी है। अक्टूबर २०१२ में सुप्रीम कोर्ट द्वारा गोवा में खनन पर प्रतिबंध लगाए जाने से सेसा स्टरलाइट के बिजनेस पर प्रतिकूल असर पड़ा है। अप्रैल-दिसंबर २०१३ तिमाही के दौरान कंपनी ने १४८ करोड़ रुपये का घाटा दर्शाया है। जस्टिस एमबी शाह कमीशन की रिपोर्ट के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने गोवा की सभी ९० खदानों पर प्रतिबंध लगाया था। कमीशन की रिपोर्ट में कहा गया था कि पिछले १२ सालों में अवैध खनन के कारण सरकार को ३५,००० करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

Last 30 days visitor count: 0